रविवार, 16 अक्तूबर 2022

होता क्या है बैकलिंक ? | What is backlink in hindi

 ब्लॉग हो या कोई वेबसाइट ट्रैफिक लाने के लिए बैकलिंक जरूरी है और आप सोच रहे होंगे कि   होता क्या है बैकलिंक? और बैकलिंक कैसे बनाएं? जी हां बिलकुल आप बैकलिंक बनना सकते हैं। क्योंकि आज का पोस्ट आपके लिए बहुत ही यूज फुल होने वाली है। इस आर्टिकल में आप Backlink की सभी जानकारी को बारीकी से समझेंगे और आप अपने blog या website के लिए Quality Backlinks बना कर वेबसाइट को ग्रो कर पाएंगे।

बैकलिंक क्या है? | What is backlink in hindi


आपकी वेबसाइट की backlinks जितनी ज्यादा होगी उतना ही बेहतर होगा आपके ब्लॉग का डोमेन अथॉरिटी और Google भी आपके पोस्ट को सर्च में बेहतर स्थान पर रैंक करेगा। इस तरह Google से ट्रैफ़िक ज्यादा मात्रा में आएगा आपके ब्लॉग पर। तो आइये सबसे पहले जानते है बैकलिंक क्या है? | What is Backlink In Hindi


What is Backlink?  होता क्या है बैकलिंक ? | बैक्लिंक से क्या फायदा है?


Backlinks एक ऐसा लिंक है। जो आपको दूसरे वेबसाइट से मिलता है। जैसे की मान लीजिये कोई अच्छा website हैं। पॉपुलर है अधिक से अधिक मात्रा में व्यूवर आते हैं और उसका आर्टिकल को पढ़ते हैं। अब इसी में किसी आर्टिकल में आपका वेबसाइट का लिंक दिया गया होगा तो उस पेज के आर्टिकल में आने वाले विजिटर आपके वेबसाइट के यूआरएल लिंक पर क्लिक कर आपके वेबसाइट पर आ जाएगा। और इसी तरह से आपके वेबसाइट में विजिटर दिन पर दिन बढ़ने लगेगा और आपका वेबसाइट भी search engine में अच्छे रैंक पर आने लगेगा इसी को हम backlink केहते हैं बैकलिंक का यही फ़ायदा है। क्योंकि बैकलिंक्स सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। ब्लॉग के डोमेन अथॉरिटी, सर्च इंजन प्रेफरेंस और सर्च इंजन रैंकिंग को बढ़ाने के लिए हमें वेबसाइट पर बैकलिंक्स जरूर बनाना चाहिए।

You can earn lakhs of rupees from this top 5 skill.

अब आप समझ गए होंगे की backlink क्या है? अब आपको बैकलिंक कितने प्रकार के होते हैं? जिनके बारे में आपको जानना बेहद जरुरी है।


Types of Backlinks?  कितने प्रकार के होते हैं बैकलिंक ?

वेबसाइट को टॉप रैंक कराने में Backlink का अहम रोल होता है। backLink की सहयता से हम वेबसाइट को बहुत ही कम समय मे टॉप रैंक में ला सकते हैं।

इसीलिए बैकलिंक हमारी वेबसाइट के लिए जरूरी है। तो आइए जानते हैं। Backlink कितने प्रकार के होते हैं? 

लो क्वॉलिटी बैकलिंक | Low Quality Backlinks 

यह ऐसी बैकलिंक होते हैं जो हमें Low quality वेबसाइट या Spam वेबसाइट से मिलते हैं Low quality बैकलिंक हमारी वेबसाइट के किसी काम के नहीं होते हैं। और हमें बिल्कुल भी नहीं बनाना चाहिए। इससे आपकी वेबसाईट को भी नुकसान हो सकता है।

हाई क्वॉलिटी बैकलिंक | High Quality Backlinks 

इस प्रकार का बैकलिंक High quality वेबसाइट या ब्लॉग से मिलेगी High quality वेबसाइट वह होता है जिनकी डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी हाई होती है। और ऐसी वेबसाइट से मिलने वाले बैकलिंक High quality बैकलिंक होते हैं। यदि आप हाई क्वॉलिटी बैकलिंक बनाने की सोच रहे हैं तो उस वेबसाइट का DA और PA जरूर चेक करें। DA/PA हाई है तो ही बैकलिंक बनाएं।


नो फॉलो बैकलिंक | No-Follow Backlinks 

गूगल की नजर में इस बैकलिंक को ज्यादा महत्व नहीं होता। अगर कोई Users No Follow Link पर Click करता है तो वहा उस Webpage पर पहुँच जाएगा। फर्क इतना होता है की ये Link Search Engine में उस Web Page की Ranking को Increase नही होता है। No-Follow बैकलिंक का स्ट्रक्चर कुछ इस प्रकार से है।


<a href=”https://www.technicalmyfriend.in/” rel=”nofollow”>technical my friend</a>


डो फॉलो बैकलिंक | Do-Follow Backlinks 

आपको पहले से मालूम ही होगा की Do Follow Link को Follow Link भी कहते है। इस बैकलिंक के मदद से हमारी वेबसाइट को किसी दूसरी वेबसाइट से ट्रैफिक मिलता है। और उस Web Page की Rank को Search Engine में भी Increase करता है। 

 Do-Follow बैकलिंक का स्ट्रक्चर कुछ इस तरह होता है।

<a href=”http://technicalmyfriend.in/”>technical my friend</a>


उम्मीद करता हूं बैकलिंक कितने प्रकार के होता है समझ गए होंगे चलिए अब जानते हैं। बैकलिंक कैसे बनाएं? क्योंकि ब्लॉग हो या वेबसाइट बैकलिंक बनाना तो पड़ेगा।


बैकलिंक कैसे बनाएं? | How to make backlink?


आप अपने ब्लॉग हो या वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाना चाहते हैं तो आपको अपने blog के लिए quality backlink बनाना बहुत जरुरी है। क्योंकि बैकलिंक से ही आपके ब्लॉग पर विजिटर बढ़ेंगे और आपका ब्लॉग पॉपुलर होगा। बैकलिंक बनाने का कोई तय सीमा नहीं है। आप जितना चाहे उतना बना सकते हैं। लेकिन आपको यह जानकारी होना चाहिए जिस वेबसाइट से आप बैकलिंक ले रहें हैं वो वेबसाइट हाई क्वॉलिटी होना चाहिए। अन्यथा आप हजारों बैकलिंक बनालेंगे फिर भी कोई फायदा नही होगा आपके वेबसाइट के लिए।

इसीलिए आपको क्वॉलिटी वेबसाइट से ही बैकलिंक बनाना चाहिए। 

आप अपना लिंक को कोई दूसरे web pages पर कमेंट के रूप में भी दे सकते हैं। या फिर आप guest post के रूप में दे सकते हैं। गेस्ट पोस्ट से भी आप हाई क्वॉलिटी बैकलिंक ले सकते हैं 

किसी भी वेबसाइट से बैकलिंक लेने से पहले ये ध्यान होना चाहिए की अपने ब्लॉग में क्वॉलिटी कंटेंट होना चाहिए यानी की यूज फुल इन्फॉर्मेशन होगा तभी कोई पॉपुलर वेबसाइट आपको बैकलिंक देगा। यदि आपके वेबसाइट पर कचरा भरा पड़ा है कोई भी इन्फॉर्मेशन यूज फुल नही है तो आपको कोई भी पॉपुलर वेबसाइट बैकलिंक नहीं देगा।


गेस्ट पोस्ट से बैकलिंक कैसे बनाएं? | How to create backlink from guest post?


गेस्ट पोस्ट से बैकलिंक लेने के लिए आपको सबसे पहले जो गेस्ट पोस्ट स्वीकार करते है। उस साइट को खोजना होगा जो आपके वेबसाइट से संबंधित हो और वह हाई अथॉरिटी साइट होना चाहिए।


फिर आप एक बढ़िया क्वॉलिटी कॉन्टेंट लिखेंगे फिर उस में आप अपने वेबसाइट का लिंक एड करें और फिर उसे उस गेस्ट पोस्टिंग साइड पर ही सबमिट कर देंगे।


अब उस गेस्ट पोस्ट साइट के संस्थापक आपके द्वारा दिए हुए पोस्ट को चेक करेंगे। उनको लगेगा आपका पोस्ट अच्छा है। और उसके policy के अनुसार पोस्ट लिखे हैं तो फिर उसे पब्लिश कर दिया जाएगा। और इस प्रकार से आपको high authority site से backlink मिल जायेगा। और आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ने लगेगा।



सोशल मीडिया पेलेटफ्रॉम से ट्रैफिक कैसे लाएं?

आज के समय में आपका अकाउंट इन सभी social platform पर होना चाहिए। जैसे Instagram, facebook, Twitter, sharechat, Pinterest, LinkedIn, Quora होना चाहिए।

इन सभी platform पर आप अपने website के नाम का page बनाइए और अपने profile में अपने site का URL जरूर एड करें। क्योंकि यहां से भी आपको Backlink मिलेगा। इन सभी सोशल मीडिया साईट पर आप जितना ज्यादा से ज्यादा शेयर करेंगे उतना ही ज्यादा आपको backlink मिलते जाएगा एवं आपकी site पर traffic भी तेजी से बढ़ने लगेगा।

Social media platform से 70 परसेंट ट्रैफिक Facebook से आता है। और कई बार हम फेसबुक ज्यादा लिंक शेयर कर देते हैं जिसके वजह से फेसबुक हमारे लिंक ब्लॉक भी कर देता है।


बैकलिंक के लिए Blog comment भी जरूरी।


यह बहुत ही आसान तरीका है backlink बनाने के लिए। आप अपने website से मिलते जुलते किसी अन्य high authority site पर कमेंट करते समय अपने site का लिंक दे सकते हैं। क्योंकि यहां से भी आपको ट्रैफिक मिलेगा। 

उम्मीद करता हूँ  इस पोस्ट से आपको बैकलिंक क्या है? और बैकलिंक कैसे बनाएं? से जुड़े सभी जानकारी बारीकी से समझ में आ गया होगा। तो अभी अपने blog के लिए backlink बनाना शुरू कर दीजिये। और आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आयी हो तो अपने दोस्तों के साथ ज़रूर share करें। और कमेंट करना ना भूलें।


FAQ


बैकलिंक का उदाहरण क्या है?

माना की A वेबसाइट अपनी पोस्ट में B वेबसाइट का यूआरएल लिंक एड किया है। तो यह बैकलिंक कहा जाएगा क्योंकि A ने B को बैकलिंक दिया है। बैकलिंक लेने का मुख्य उद्देश होता है ट्रेफिक जनरेट करना। 


बैकलिंक्स कैसे लें ?

किसी वेबसाइट से बैकलिंक लेने से पहले उसका सभी डिटेल्स जरूर चेक करें। क्योंकि लो क्वालिटी काबैकलिंक आपके साइट के लिए हाई अथॉरिटी साइट से ही बैकलिंक लेना चाहिए।


बैकलिंक कैसे काम करता है?

बैकलिंक का यही काम होता की विजिटर को एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट पर भेजना जैसे की A ने अपने पोस्ट में B का यूआरएल लिंक एड किया और विजिटर उस लिंक पर क्लिक करके B के वेबसाइट पर आ जाएगा। 











कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यदि आपको ये आर्टिकल उपयोगी लगा हो तो इसको Facebook और whatsup पर शेयर और कमेंट करना ना भूले।

Disclaimer : इस Technical my friend को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह kumarnavin.nk88@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।