बुधवार, 2 जून 2021

How to make digital marketing | डिजिटल मार्केटिंग क्या है।| क्यों जरूरी है?

 डिजिटल मार्केटिंग का मतलब क्या है?

अपनी वस्तुएं और सेवाओं की डिजिटल यानी कि ऑनलाइन मार्केटिंग करने की प्रतिक्रिया को डिजिटल मार्केटिंग कहते है। जैसे कि ऑनलाइन बेचना या खरीदना। सब डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट के माध्यम से करते हैं। आज के युग में सब ऑनलाइन हो गया है। इंटरनेट ने हमारे जीवन को बेहतर बनाया है और हम इसके माध्यम से कई सुविधाओं का आनंद केवल फ़ोन या लैपटॉप के ज़रिये ले सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है?| how to make digital marketing


डिजिटल मार्केटिंग नये ग्राहकों तक पहुंचने का आसान तरीका है। यह मार्केट की हर डिमांड को पूरा करता है। इसे ऑनलाइन मार्केटिंग भी कहा जाता है। कम समय में अधिक लोगों तक पहुंच कर विपणन करना डिजिटल मार्केटिंग है। यह प्रोध्योगीकि विकसित करने वाला विकासशील क्षेत्र है। सरल भाषा में कहें तो डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल तकनीक द्वारा ग्राहकों तक पहुंचने का एक माध्यम है।

आजकल लोग समय अल्पता से जूझ रहा है। इसलिये डिजिटल मार्केटिंग आवश्यक हो गया है। हर व्यक्ति इंटरनेट से जुड़ा है और वह इसका उपयोग हर स्थान पर आसानी से कर सकता है।

आजकल आप किसी से मिलने के लिए कहोगे तो कहेगा मेरे पास समय नही है। परंतु सोशल साइट पर उसे आपसे बात करने में कोई समस्या नही होगी। इन्ही सब बातों को देखते हुए डिजिटल मार्केटिंग इस दौर में अपनी जगह बना रहा है।

डिजिटल मार्केटिंग क्यो जरूरत है ?

अभी का समय सब कुछ आधुनिक है। और इस आधुनिक समय में हर वस्तु में आधुनिककरन हुआ है। इसी क्रम में इंटरनेट भी इसी आधुनिकता का अहम हिस्सा है जो जंगल की आग की तरह हर जगह फैला है। डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट के माध्यम से कार्य करने में सक्षम है। इसलिये डिजिटल मार्केटिंग जरूरत हो गया है।

आजकल लोग अपनी सुविधा के अनुसार इंटरनेट के माध्यम से अपना मनपसंद व आवश्यक सामान आसानी से प्राप्त कर सकती है।

अभी के समय में हर कोई बाज़ार जाने से बचते हैं। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग बिज़नेस को अपने products या services को लोगो तक पहुंचाने में मदद मिलती है। 

डिजिटल मार्केटिंग कम समय में एक ही वस्तु के कयी बराईटी दिखा सकता है। और उप्भोक्ता को जो पसंद है वह तुरंत उसे ले सकता है। इस माध्यम से उपभोकता का बाज़ार जाना वस्तु पसंद करने आने जाने में जो समय लगता है वो बच जाता है।

आजकल इसीलिए डिजिटल मार्केटिंग का जरूरत हो गया है। व्यापारी को भी व्यापार में सहायता मिल रही है। वो भी कम समय में अधिक लोगो पहुंच सकता है और अपने उत्पाद की खूबियाँ अपने ग्राहकों तक पहुँचा सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग कई प्रकार के होते है।

आपको यह जानकारी तो होगा ही कि डिजिटल मार्केटिंग करने के लिये ‘इंटरनेट’ ही एक मात्र साधन है।

इंटरनेट पर ही हम अलग-अलग वेबसाइट के द्वारा मार्केटिंग करते हैं। इसके कुछ प्रकार के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

सर्च इंजन औप्टीमाइज़ेषन | SEO

SEO एक ऐसा तकनीकी माध्यम है। जो की आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन के परिणाम पर सबसे ऊपर जगह दिलाता है। जिससे दर्शकों की संख्या में बड़ोतरी होती है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को कीवर्ड और SEO guidelines को ध्यान में रखकर बनाना होता है।

सोशल मीडिया | Social Media

अब बात करते हैं सोशल मीडिया की सोशल मीडिया कई वेबसाइट से मिलकर बना है। जैसे की Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, इत्यादि। सोशल मीडिया के माध्यम से कोई भी व्यक्ति अपने विचार हजारों लोगों के सामने रख सकता है। जब भी हमलोग ये सोशल साइट देखते हैं तो इस पर कुछ-कुछ अन्तराल पर हमे विज्ञापन दिखते हैं। यह विज्ञापन के लिये कारगार व असरदार तरीका है। सोशल मीडिया का ऐसा माध्यम है जिसमे उत्पादक अपने उत्पादों को लोगों के समक्ष प्रत्यक्ष रुप से पहुंचाना है।

ईमेल मार्केटिंग | Email Marketing

अब बात करते हैं ईमेल मार्केटिंग की किसी भी कंपनी द्वारा अपने उत्पादों को ई-मेल के द्वारा पहुंचाना ई-मेल मार्केटिंग है। ईमेल मार्केटिंग हर प्रकार से हर कंपनी के लिये जरूरत है। क्योकी कोई भी कंपनी नये प्रस्ताव और छूट ग्राहको के लिये समयानुसार देती हैं। जिसके लिए ईमेल मार्केटिंग एक सरल रास्ता है।

यूट्यूब चेनल | YouTube Channel

आपको बता दें कि यूट्यूब का भी आज के समय सोशल नेटवर्किंग में बड़ी भूमिका है। यहां वो माध्यम है जहां बहुत से लोगो की भीड़ रह्ती है या यूं कह लिजिये की बड़ी सन्ख्या में users/viewers यूट्यूब पर रहते हैं। यहां पर अपने उत्पाद को लोगों के बीच वीडियो बना कर दिखाने का सरल व लोकप्रिय तरीका है।

अफिलिएट मार्केटिंग | Affiliate Marketing

आईए जानते हैं अफिलिएट मार्केटिंग के बारे में। वेबसाइट, ब्लोग या लिंक के माध्यम से प्रोडक्ट के विज्ञापन करने पर उस प्रोडक्ट को कोई खरीदते हैं तो आपको कमीशन मिलता है। इसे ही अफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है। इसके माध्यम से आप अपना लिंक बनाते हैं और जब ग्राहक उस लिंक को क्लिक कर आपका प्रोडक्ट खरीदता है तो आपको उस पर कमीशन मिलता है।

एफीलिएट मार्केटिंग क्या है कैसे करें। How to use affiliate marketing 

पे पर क्लिक ऐडवर्टाइज़िंग | PPC marketing

अब बात करते हैं PPC MARKETING की जिस विज्ञापन को देखने के लिए आपको पैसे देना पड़ता है। उसीको पे पर क्लिक ऐडवर्टीजमेंट कहा जाता है। 

जैसे की आपलोग अक्सर सूनते होंगे की इस पर क्लिक करते ही पैसे कटते हैं। यह हर प्रकार के विज्ञापन के लिये है। यह विज्ञापन बीच में आते रहते हैं। अगर इन विज्ञापनो को कोई देखता है तो पैसे कटते हैं। यह भी डिजिटल मार्केटिंग का एक हिस्सा है।

एप्स मार्केटिंग | Apps Marketing

आजकल लोग इंटरनेट पर अलग-अलग ऐप्स बनाकर लोगों तक पहुंचाने और उस पर अपने प्रोडक्ट का प्रचार करने को ऐप्स मार्केटिंग कहते हैं । यह डिजिटल मार्केटिंग का बहुत ही सरल रस्ता है। आजकल बड़ी संख्या में लोग स्मार्ट फ़ोन का उपयोग कर रहे हैं । बड़ी-बड़ी कंपनी अपने एप्स बनाती हैं और एप्स को लोगों तक पहुंचाती है। अपने प्रोडक्ट को लोगों तक पहुंचाने के लिए।


हम उम्मीद करते हैं इस पोस्ट के माध्यम से आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा कि डिजिटल मार्केटिंग क्या है। अगर ये जानकारी पसंद आयी हो तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया मे शेयर जरुर करें।











कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यदि आपको ये आर्टिकल उपयोगी लगा हो तो इसको Facebook और whatsup पर शेयर और कमेंट करना ना भूले।

Disclaimer : इस Technical my friend को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह navinmandal402@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।